ब्लॉग क्या है और हम ब्लॉग से पैसा कैसे कमाते हैं

ब्लॉग क्या है और हम ब्लॉग से पैसा कैसे कमाते हैं
आप सभी का एक बार फिर राय कंप्यूटर हिंदी ब्लॉग पर स्वागत है आज के इस ब्लॉग में आप सभी को यह जानकारी मिलेगी कि आप एक ब्लॉग कैसे बनाएंगे और उस ब्लॉग को मोनेटाइज करके पैसा कैसे कमाएंगे आज के समय में ब्लॉगिंग एक इंटरनेट के माध्यम से पैसा कमाने का बहुत ही अच्छा साधन है आप ब्लॉगिंग के माध्यम से इतना पैसा कमा सकते हैं जितना आप ने सोचा था उससे भी ज्यादा लेकिन यह इतना आसान नहीं होता है शुरुआती समय में आपको तीन से चार महीने थोड़ा दिक्कत आती है जैसे जैसे आप ब्लॉग लिखते जाते हैं वैसे उसे आपको नॉलेज बढ़ता जाता है और आपके ब्लॉग पर ट्रैफिक आने लगता है तो आपको ब्लॉगिंग के क्षेत्र में यदि सीरियसली ब्लॉगिंग करना है इसमें आपको अपना कैरियर बनाना है तो आप इस ब्लॉग को पूरा पढ़ें तो आपको पता चल जाएगा कि आप किस तरह से एक ब्लॉग लिख सकते हैं और उस ब्लॉग पर ट्रैफिक ला कर पैसा भी कमा सकते हैं

What is blog - ब्लॉग क्या है?

ब्लॉग एक ऐसी ऑनलाइन जगह है जहाँ आप अपने विचारों को लेखों और चित्रों के माध्यम से इंटरनेट पर प्रकाशित कर सकते हैं। ब्लॉग पर आप किसी भी प्रकार के लेख लिख सकते हैं जो आपके जीवन से जुड़ा हो भी सकता हैं या नहीं भी। 
जैसे कुछ लोग टेक्नोलॉजी के बारे में ब्लॉग लिखते हैं जो भी नया मोबाइल आता है या कोई नया गैजेट आता है उसके बारे में इंफॉर्मेशन इंटरनेट के माध्यम से लोगों तक पहुँचाते हैं कुछ लोग ट्रैवल ब्लॉगिंग लिखते हैं कुछ लोग जिस फिल्ड में काम करते हैं उसी काम के बारे में इंफॉर्मेशन ब्लॉग के माध्यम से लोगों तक देते हैं तो यह आपके ऊपर डिपेंड करता है कि आप किस टॉपिक पर ब्लॉग लिखना चाहते हैं। 

What is blog - ब्लॉग क्या है?

हमें ब्लॉग लिखने से पहले किन किन बातों का ध्यान रखना चाहिए। 

  • हमें ब्लॉग लिखने से पहले हमें यह डिसाइड करना होता है कि कि हम किस नीच पर अपना ब्लॉग लिखेंगे नीच का मतलब होता है यहां किस सब्जेक्ट पर किस टॉपिक पर मेरा ब्लॉग होगा पूरा का पूरा जैसे कि आप मेरे ब्लॉग को देख सकते हैं कि कंप्यूटर कोर्स रिलेटेड मेरा ब्लॉग है तो इसमें जितने भी कंप्यूटर कोर्स रिलेटेड टॉपिक होता है वही मैं इस ब्लॉग में पोस्ट करता हूं इसी तरह से आप को डिसाइड करना है कि आप किस नीच में अपने ब्लॉग को लिखना चाहते हैं
  • अब आप जिसकी वर्ड पर ब्लॉग लिखना चाहते हैं उसकी वर्ड को पहले रिसर्च करके देख लीजिए की एक्चुअल में उसकी वर्ड पर गूगल में कितने लोग महीने में सर्च करते हैं गूगल ट्रेंड में चेक कर लीजिए इस में कितने ट्रैफिक आती है यह जरूरी है क्योंकि यदि आप ऐसे कीवर्ड पर ब्लॉक लिखेंगे कि जो कभी सर्च कोई करता ही नहीं हो तो उसे ब्लॉक लिखने का क्या फायदा कि कोई इस ब्लॉग को पड़ेगा ही नहीं तो आप कीवर्ड का पहले रिसर्च करें कि उसकी और पर महीने में कितने लोग आते हैं साल में कितने लोग आते हैं और उसकी वर्ड पर ट्रैफिक कितना है सारा कुछ आप गूगल कीवर्ड रिसर्च में जाकर सर्च कर सकते हैं
  • कीवर्ड का मतलब है जैसे कि मान लेते हैं कि आपने गूगल में सर्च किया कंप्यूटर कोर्स इन हिंदी तो यह हमारा एक कीवर्ड हो गया और इसी कीवर्ड के द्वारा हमारे उस ब्लाक पर ट्रैफिक आएगा तो तो इसी तरीके से आप जिस भी टॉपिक पर ब्लॉग लिखना चाहते हैं तो आप दो-चार कीवर्ड डिसाइड कर लीजिए और उसको गूगल कीवर्ड प्लानर में जाकर रिसर्च कीजिए और देखिए उसमें कितने लोग उसकी वर्ड को सर्च करते हैं एग्जांपल के लिए मैं आपको नीचे कुछ कीवर्ड दिखा रहा हूं आप इस तरीके से कीवर्ड उस टॉपिक के बारे में बना सकते हैं और सर्च कर सकते हैं आपको हेडिंग में इसी कीवर्ड को देना है जिस टॉपिक पर आप लिख रहे हैं उस टॉपिक में इसका हेडिंग आपका ही होगा
Blog kya hai , Blog kise kaste hai , Blog se paese kaese kamaye , Blog kya hota hai , Blog earning tips in hindi , Bloging tutorial in hindi ,Blogging , Earn money for blog in hindi , Blogging se paise kaise kamaye hindi 

अब हमने नीच भी चुन लिया और हमने उस ब्लॉग में किस टॉपिक पर ब्लॉग लिखना Key Word भी डिसाइड कर लिया अब आपको उसकी वर्ड को हेडिंग में लिखना है और अपने ब्लॉग को पूरा एक्सप्लेन करके कम से कम हजार शब्दों में लिखे और अब उस ब्लाक में एक इमेज का भी यूज जरूर करें आप अपने ब्लॉग को बिल्कुल साफ शब्दों में लिखें और देखने में बिल्कुल अच्छा लगे पढ़ने में समझ जाए ऐसा शब्द लिखिए गा

ब्लॉग से पैसा कैसे कमाए - Blog se paise kaise kamaye

जब आपके ब्लॉग पर प्रतिदिन कम से कम 100 से 200 लोगों का ट्रैफिक आने लगे तब आप अपने ब्लॉग पर विज्ञापन लगा कर पैसा कमा सकते हैं चलिए जान लेते हैं किन किन तरीका से आप अपने ब्लॉग से पैसा कमा सकते हैं
  • गूगल ऐडसेंस यह एक गूगल कंपनी का प्रोडक्ट है जोकि इंटरनेट पर जितने भी वेबसाइट और ब्लॉग है जो लोग अपनी वेबसाइट या ब्लॉग पर विज्ञापन लगाना चाहते हैं उनको गूगल ऐडसेंस अपने ऐड को उनकी वेबसाइट पर लगाने का और पैसा कमाने का मौका देता है गूगल ऐडसेंस के बारे में और पढ़ें
  • नेटिव एड्स आप अपने ब्लॉग या वेबसाइट के ऊपर नेटिव ऐड्स लगाकर पैसा कमा सकते हैं नेटिव एड्स के बारे में और पढ़ें
  • एफिलिएट मार्केटिंग आप अपने ब्लॉग और वेबसाइट पर ए प्लेट मार्केटिंग के द्वारा पैसा कमा सकते हैं एफिलिएट मार्केटिंग के बारे में और पढ़ें
  • ब्लॉग से पैसे कमाने का और भी बहुत तरीके है जैसे स्पॉंसर  शिप  , इत्यादि। 

अपने ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन में कैसे लाएं।

अपने ब्लॉग को गूगल सर्च इंजन में लाने के लिए आपको गूगल सर्च कंसोल पर जाकर अपनी वेबसाइट का यूआरएल सबमिट करना होता है गूगल को बताना होता है कि यह हमारा वेबसाइट है और इस वेबसाइट को आप गूगल सर्च इंजन में इंडेक्स कीजिए 
जब आप अपने वेबसाइट यूआरएल को गूगल सर्च कंसोल मैं इनपुट कर देते हैं तो आपको एक वहां एचटीएमएल कोड मिलता है उस कोड को अपने ब्लॉग के HEAD TAG के अंदर लगाकर वेरीफाई करना होता है इसके बाद आप जितने भी अपने ब्लॉग के अंदर कुछ भी लिखेंगे सारा गूगल ऑटोमेटिक इंडेक्स कर लेगा आप अपने ब्लॉग का गूगल सर्च कंसोल के अंदर साइट मैप जरूर बना ले 
Share:

आज हम एक्सेल के बहुत ही मजेदार और बहुत ही काम का IF FUNCTION को सीखेगे ! | How to use the Excel IF function

एक्सेल में IF FORMULA किसी भी प्रकार के कंडीसन में यूज़ किया जाता है जैसे हम एक्सेल में एक रिजल्ट बना रहे है हमें फाइंड करना है की कौन फ़ैल है या कौन पास है तो हम इस तरह के कंडीसन में IF FORMULA को यूज़ करते है ! तो चलिए सिख लेते है

how to use if function in excel 2007 in hindi
  • सबसे पहले हम एक्सेल में एक डाटा शीट बना लेगे ! ऊपर  दिए गए इमेज की तरह
  • मेने इस डटा शीट में रिजल्ट के माध्यम से IF फार्मूला को समझाया है ! 
  • मेने पहले सभी सब्जेक्ट को टोटल कर दिया है 
  • फिर उसका परसेंटेज निकला है ( TOTAL MARKS * 100 / MAXIMUM ) 
  • मेने यहाँ सेल को परसेंटेज में कन्वर्ट कर दिया है ! ( सेल को परसेंटेज में कन्वर्ट करने के लिए सेल को सेलेक्ट कर के परसेंटेज पर क्लिक कर दे ) 
percentage in excel in hindi
  • सेल को परसेंटेज में कन्वर्ट करने के बाद आप इसका परसेंटेज इस तरह भी निकल सकते है ! (TOTAL MARKS / MAXIMUM ) 
  • अब हम IF FUNCTION को पास या फ़ैल के कोलोम में लगाए गे ! और हम देखेगे की कौन सा स्टूडेंट फर्स्ट , सेकंड , थर्ड और फ़ैल है ! 
  • =IF(J3>70%,"FIRST",IF(J3>50%,"SECOND",IF(J3>30%,"THIRD","FAIL"))) 
  • मेने यहाँ कंडीशन यह लगाया है की जब PERCENTAGE सेल के अन्दर 70% से अधिक आएगा तो फर्स्ट होगा , 50% से अधिक आएगा तो SECOND होगा , 30% से अधिक आएगा तो THIRD होगा और 30% से कम आएगा तो FAIL होगा ! 
अब IF कंडीशन को दुसरे तरीका से सीखे !
  • यहाँ पर मेने IF कंडीशन को मतदान करता के जरिये समझाया है 
  • हम IF के द्वारा यह पता लगायेगे की कौन-कौन लोग मतदान कर सकते है ! और कौन नहीं कर सकता है ! मेने एक एक्सेल में डाटा शीट बनया है और D सेल में IF को यूज़ किया है - निचे के इमेज को देखे 
  • =IF(D5>18," हां - आप मतदान दे सकते है !" , " नहीं - आप मतदान नहीं दे सकते है ! उम्र 18 से कम है ") 
  • मेने इस डाटा शीट में चेक लिस्ट बनाया है चेक लिस्ट कैसे बनाते है सिखने के लिए यहाँ क्लिक करे !
if function excel

यह भी पढ़े !


Tag - How to use the Excel IF function, How to use IF function in Excel: examples for text, numbers, Excel IF function Hindi, Excel IF Function and IF Example, ...
Share:

माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में MICRO आप्शन का यूज़ कैसे करते है। ~ how to use micro option in word

माइक्रो आप्शन का यूज़ तब किया जाता है जब आप किसी फंक्शन या वर्ड को बार-बार यूज़ करते है तो आप इस आप्शन के द्वारा आप उसे रिकॉर्ड कर के उस फंक्शन या वर्ड को लिख सकते है ( इस आप्शन के द्वारा आपको किसी फंक्शन या वर्ड को बार –बार टाइप करना है तो आप उसे रिकॉर्ड करले और यूज़ करे )

  • सबसे पहले आप ऑफिस बटन पर जाए अब वर्ड ऑप्शन्स पर क्लिक करे इसके बाद show developer tab on ribbon को टिक करो और ओके कर दे 
word option

open developer tab

  • developer tab के अन्दर जाए 
  • अब रिकॉर्ड फंक्शन या वर्ड का रिकॉर्ड करने से पहले स्टार्टिंग पॉइंट और रिकॉर्डिंग ऑफ करने से पहले समाप्त पॉइंट को बतये तब स्टॉप रिकॉर्ड माइक्रो आप्शन को बंद करे 
  • अब आप जो रिकॉर्ड करना चाहते है उसे रिकॉर्ड करने के लिए रिकॉर्ड माइक्रो पर क्लिक करे 
  • अब आप माइक्रो का कोई नाम टाइप करले और कीबोर्ड पर क्लिक कर के शॉर्टकट बनाले 
  • अब स्टॉप स्टॉप रिकॉर्डिंग पर क्लिक करे 
  • अब आप उस फंक्शन या वर्ड को जहा यूज़ करना चाहते है उसके पहले शोर्टक जो के बनया है यूज़ प्रेसे करे 
  • अब देखे गे की कितनी आसानी से बहुत सारे काम को  मिनटों में कर लिया इस माइक्रो आप्शन के द्वारा
यह भी पढ़े !
1. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड क्या है ? और वर्ड कीबोर्ड शार्ट कट !
2. कैसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में मेल मर्ज़ (Mail Merge) करें?
3. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में टेबल ऑप्शन को यूज़ कैसे करते है
4. वर्ड में word Art कैसे करते है
5. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में अपने पेज पर बॉर्डर कैसे सेट करते है
6. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में MICRO आप्शन का यूज़ कैसे करते है।
7. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में हैडर फुटर डेट टाइम पेज नंबर का का यूज़
8. Drop cap, Object, Shapes, Picture, Clip Art Chart, Smart Art ,Columns,Hyperlink आप्शन का यूज़
9. Cross-Reference का यूज़ करना सीखे

Tag: micro option use in a word, how to use a micro option in a word, micro, Microsoft word micro, micro kya hai, word me micro ko kaese use kare, Microsoft word, word, office

Share:

आज हम एक्सेल का पॉवर फुल फार्मूला VLOOKUP को सीखेगे

VLOOKUP फार्मूला का यूज़ बहुत ज्यदा होता है VLOOKUP माइक्रोसॉफ्ट एक्सेल का बहुत ही महत्वपूर्ण फार्मूला है यदि आप VLOOKUP को सिख लेते है तो बहुत ही आसानी से किसी भी डाटा को मैनेज कर पाएगे ! VLOOKUP फार्मूला का यूज़ एक्सेल में इस लिए किया जाता है की आप किसी भी एक्सेल शीट और एक्सेल फाइल के डाटा को आप जिस शीट में यूज़ करना चाहते है उस शीट पर उस डाटा को यूज़ कर सकते है तो चलिए हम VLOOKUP को EXCEL में यूज़ करना सिख लेते है


  • सबसे पहले हम एक डाटा शीट बना लेंगे
vlookup

  • अब हम इस शीट में से कोई भी डेटा को अपने दुसरे शीट पर या इसी शीट VLOOKUP की सहयता से बहुत सी आसानी से यूज़ कर सकते है ! 
  • हम इसी शीट पर पहले सीखे गे ! अब निचे के सेल में केवल EMP.CODE की सहयता से सभी डेटा को फाइंड  करेगे !
  • अब नीच किसी सेल पर क्लिक करे और इस फार्मूला को टाइप करे !
  • =VLOOKUP (LOOKUP_VALUE, TABLE ARRY, COL INDEX NUMBER,0) 
  • =VLOOKUP ( किसी भी खाली सेल को सेलेक्ट करे जिसमे आप EMP.CODE के द्वारा आप EMP. का पूरा जानकारी प्राप्त करेगे , अपने पूरा टेबल डाटा को सेलेक्ट करे , जिस कोलोम के डाटा को फाइंड करना चाहते है उसका इंडेक्स नंबर लिखे ! जैसे मेने VLOOKUP के द्वारा हमने EMP.NAME को फाइंड किया है ! , अब आपको या सही या गलत के लिए जीरो लिखना है ) 
  • =VLOOKUP(A17,A1:F11,2,0) निचे के इमेज में मेने इस VLOOKUP को यूज़ किया है !
vlookup

  • बस अब में केवल EMP.CODE लिखूगा और EMP.NAME अपने आप आ जायेगा !
  • अब हम इसी तरह से केवल EMP.CODE के द्वरा हम EMP. का पूरा डाटा देख सकते है

vlookup


  • आज हम इस लेख में VLOOKUP को एक्सेल में यूज़ करना सीखा !
यह भी पढ़े !
1. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड क्या है ? और वर्ड कीबोर्ड शार्ट कट !
2. कैसे माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में मेल मर्ज़ (Mail Merge) करें?
3. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में टेबल ऑप्शन को यूज़ कैसे करते है
4. वर्ड में word Art कैसे करते है
5. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में अपने पेज पर बॉर्डर कैसे सेट करते है
6. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में MICRO आप्शन का यूज़ कैसे करते है।
7. माइक्रोसॉफ्ट वर्ड में हैडर फुटर डेट टाइम पेज नंबर का का यूज़
8. Drop cap, Object, Shapes, Picture, Clip Art Chart, Smart Art ,Columns,Hyperlinkआप्शन का यूज़
9. Cross-Reference का यूज़ करना सीखे
Share:

आज हम एक्सेल के अन्दर SUMIF फंक्शन को यूज़ करना सीखेगे ! | SUMIF function

जब हम किसी EXCEL शीट में से किसी एक प्रोडक्ट का पूरा टोटल करना हो तो उस के लिए EXCEL में SUMIF फंक्शन का यूज़ होता है ! जैसे हमारे पास एक सेल्स डाटा शीट है उसमे हमें चेक करना है की केवल जनवरी माह में टोटल कितना का सेल्स हुआ तो इसे हम SUMIF फंक्शन के द्वारा इसका टोटल करेगे ! 

  • सबसे पहले हम एक डाटा शीट बना लेंगे ! निचे के इमेज को देखे ! 
  • SALES का टोटल निकलने के लिए हम SUM करेगे 
  • =SUM(D5:D19) 
  • अब हम रवि कुमार का टोटल सेल निकलने के लिए SUMIF करेगे ! 
  • =SUMIF(B5:B19,"ravi kumar",D5:D19) 
  • =SUMIF( हम उस पुरे सेल को सेलेक्ट करेगे जिस में प्रोडक्ट का नाम है ," यहाँ प्रोडक्ट का नाम लिखेगे जिसका टोटल करना है ", यहाँ जिस सेल में वैल्यू है उस पुरे सेल को सेलेक्ट करेगे ) 
  • MONTH का टोटल निकलने के लिए SUMIF करेगे ! 
  • =SUMIF(C5:C19,"febuary",D5:D19)
SUMIF

#SUMIF function


Share:

अपने फोटो पर बॉर्डर कैसे लगाएं ~ How To Create Photo Border in Photoshop in Hindi

आज मैं आप सभी को बताऊंगा कि आप किस प्रकार से आप फोटोशॉप में अपने फोटो को चारों तरफ से बॉर्डर लगा सकते हैं आज हम फोटोशॉप में दो तरीकों से अपने फोटो को चारों तरफ से बॉर्डर लगाने के बारे में सीखेंगे आपको पता ही होगा कि फोटो सब के बहुत सारे वर्जन आ चुके हैं आप फोटोशॉप के पुराना वर्जन हो या नया कोई भी वर्जन हो बिल्कुल सेम तरीका है सर मैं आपको बिल्कुल सिम तरीका से आपको अपने फोटो के चारों तरफ बैकग्राउंड लगाने का नियम है तो चली हम अपने फोटो को चारों तरफ से कैसे बैकग्राउंड लगाते हैं सीख लेते हैं
How To Create Photo Border


फोटो पर चारों तरफ से बॉर्डर लगाने का फोटोशॉप में पहला तरीका
How To Create Photo Border in Photoshop in Hindi
  • सबसे पहले आप फोटोशॉप सॉफ्टवेयर को ओपन करें फिर आप उसमें कोई एक इमेज को ओपन कर ले और उस फोटो को बैकग्राउंड पर डबल क्लिक करके उसको लेयर में कन्वर्ट कर ले
How To Create Photo Border  in Hindi
  • अब आप उस फोटो को सेलेक्ट कर ले। ( CTRL + A )
  • अब आप एडिट मेनू पर जाएं STROKE  पर क्लिक करें  आप फोटो को जितना बॉर्डर देना चाहते हैं उतना आपको उसका चौड़ाई देना होगा तो हम यहां पर उसका चौड़ाई रखेंगे 20 px आप अपनी जरूरत के अनुसार रख लीजिएगा और आप अपनी जरूरत के अनुसार कलर चुन लीजिए जो बॉर्डर का कलर देना चाहते हैं लोकेशन में सेंटर रखिएगा और इसके बाद आपको ओके कर देना है
How To Create Photo Border in Hindi

photo pr border kaese lagate hai photo shop me

How To Create Photo Border
  • आप इस तरीके से आप फोटोशॉप में अपने फोटो का चारों तरफ से बॉर्डर दे सकते हैं लेकिन इस तरीका से आप केवल कोई एक ही कलर का बॉर्डर लगा सकते हैं चारों तरफ से कोई अलग तरह का डिजाइन आप नहीं लगा सकता है आपको केवल सिंगल कलर लगाना हो तो आप इस तरीके से आप अपने फोटो को चारों तरफ से बॉर्डर लगा सकते हैं इसका उपयोग प्रोफेशनल फॉर्मल फोटो बनाने के लिए किया जाता है जैसे आप कोई पासपोर्ट साइज फोटो बनाते हैं तो उसमें इस बॉर्डर का यूज किया जाता है या कहीं प्रोफेशनली काम के लिए आपको कोई फोटो देना हो तो उसमें सिंपल बॉर्डर होता है
अब मैं आपको दूसरा तरीका बता रहा हूं जिसमें आप स्टाइलिश बॉर्डर लगा सकते हैं उसमें किसी भी तरह के स्टाइलिश बॉर्डर यूज कर सकते हैं उस तरीका से आप और कलरफुल बॉर्डर लगा सकते हैं चारों तरफ से अलग-अलग कलर का भी बॉर्डर लगा सकते हैं आप उस तरीका से तो चलिए हम दूसरा तरीका भी सीख लेते हैं कि हम फोटोशॉप में कैसे अपने फोटो के चारों तरफ से बॉर्डर लगाते हैं
फोटो पर चारों तरफ से बॉर्डर लगाने का फोटोशॉप में दूसरा तरीका
How To Create Photo Border in Photoshop in Hindi
  • फोटोशोप में फोटो पर बॉर्डर बनाने के लिए सबसे पहले आप फोटो शॉप को ओपन करे !
  • आप फाइल मेनू में जाकर ओपन पर क्लिक कर के अपने कंप्यूटर से इमेज ओपन करले ! (FILE >> OPEN >> कोई एक इमेज ओपन करले ! )
  • अब आप इमेज को ctrl + a से सलेक्ट करले !
  • अब आप select मेनू पर क्लिक करे >> MODIFY में जये >> BORDER पर क्लिक करे >> सेट बॉर्डर विड्थ 10 पिक्सल्स और ओके कर दे ! (  अब जितना भी बॉर्डर का चौड़ाई रखना चाहते हैं आवश्यकतानुसार यूज कर सकते हैं मैंने यहां पर 10 पिक्सल रखा है )
  • आप फिर से select मेनू पर क्लिक करे >> MODIFY में जये >> Expand पर क्लिक करे >> सेट Expand By 30 पिक्सल्स और ओके कर दे ! (  अब कितना एरिया में एक्सपेंड करना चाहते हैं तो आप आ सकता अनुसार अपना एरिया को एक्सपेंड कर ले मैंने यहां 30 पिक्सल एरिया एक्सपेंड किया है )
  • अब आप LAYER पर क्लिक करे >> New पर जाये >> Layer Via Copy (ctrl + j ) पर क्लिक करे !
  • अब आप LAYER >> LAYER STYLE >> BLENDING OPTION पर क्लिक करे ! >> STYLES पर क्लिक करे ! >> कोई एक स्टाइल को सलेक्ट कर ले और ओके कर दे !
photo border creat in hindi


photo border creat in hindi

photo border creat in hindi

photo border creat in hindi

photo border creat in hindi

photo border creat in hindi
इस तरीका से आप अपने फोटो को चारों तरफ बॉर्डर लगा सकते हैं फोटोशॉप में इन दोनों तरीकों से आप अपने फोटो को चारों तरफ से बॉर्डर लगा सकता है यदि आप अपने फोटो के चारों तरफ से सिंगल कलर का बॉर्डर लगाना चाहते हैं तो पहला स्टेप बहुत ही आसान है आप उस तरीका से लगा सकते हैं और यदि आप कलरफुल बॉर्डर लगाना चाहते हैं तो आप दूसरा नियम के साथ आप अपने फोटो के चारों तरफ अलग अलग है या डिफरेंट कलर या डिफरेंट डिजाइन के साथ बॉर्डर लगा सकते हैं आप ब्लेंडिंग ऑप्शन के अंदर जाएंगे तो आप डिफरेंट डिफरेंट टाइप का आप खुद से आप बॉर्डर क्रिएट कर सकते हैं और उसमें आप चॉइस कर सकते हैं कि बॉर्डर का शैडो कितना देना है पैटर्न भी लगा सकते हैं आप बॉर्डर के चारों तरफ से आपको ब्लेंडिंग ऑप्शन के अंदर बहुत सारे ऑप्शन मिल जाएंगे आपको आप उनमें से कोई भी ऑप्शन का यूज करके आप फोटो को बॉर्डर लगा सकते हैं।  

यह भी पढ़ें





Share:

how to pf transfer in bank account | PF TRANSFER KAISE KARE

ऑनलाइन अपना PF अकाउंट बैलेंस कैसे चेक करे और अपना PF ऑनलाइन कैसे ट्रान्सफर करे !

आज हम आपको ऑनलाइन APNA PF KAISE CHECK KARE, UAN NO KAISE ACTIVATE KARE, PF TRANSFER KAISE KARE, के बारे में बता रहा हु। 
ऑनलाइन PF निकलने के लिए या PF Account Blance चेक करने के लिए आपके पास Universal Account Number (UAN) नंबर होना चाहिए ! यदि आपको अपना UAN नंबर नहीं पता है तो आपको अपने रजिस्टर मोबाइल नंबर जो आधार नंबर से लिंक हो उस नंबर से इस 011 – 22901406 नंबर पर आपको Missed Call करना है जैसे ही आप Missed Call करेगे उसके तुरन्त बाद आपके मोबाइल नंबर पर एक MESSAGES आएगा जिसमे आपका UAN नंबर और आपके PF Account में कितना Blance है लिखा होगा ! 

 UAN NO KAISE ACTIVATE KARE

अब आपके पास Universal Account Number (UAN) नंबर है और आपका मोबाइल नंबर भी लिंक है तो चलिए सबसे पहले जानते है 

  APNE UAN NO KAISE ACTIVATE KARE 

  • सबसे पहले हम गूगल ओपन करेगे टाइप करे गे epfo या अपने ब्राउज़र में टाइप करे epfindia.gov.in
  • अब हम OUR SERVICES पर जायेगे FOR EMPLOYEES पर क्लिक करेगे 
  • अब हम निचे स्क्रॉल कर के जायेगे SERVICES में Member UAN/Online Service (OCS/OTCP) पर क्लिक करेगे 
  • अब हम Activate UAN पर क्लिक करेगे ! आपको UAN नंबर, अपना नाम, Date of Birth, ईमेल और कैप्चा लिखना है और Get Authorization Pin पर क्लिक करना है आपके मोबाइल पर एक OTP आएगा उसे लिख कर सबमिट कर दे अब आपका UAN NO ACTIVATE हो गया ! 
HOW TO ACTIVATE UAN NUMBER
ACTIVATE UAN

APNA PF KAISE CHECK KARE 

  • सबसे पहले हम गूगल ओपन करेगे टाइप करे गे epfo या अपने ब्राउज़र में टाइप करे https://www.epfindia.gov.in
  • अब हम OUR SERVICES पर जायेगे FOR EMPLOYEES पर क्लिक करेगे 
  •  अब हम निचे स्क्रॉल कर के जायेगे SERVICES में Member Passbook पर क्लिक करेगे 
  • अब आपको अपना UAN NO, पासवर्ड, और कैप्चा लिखना है लोगिंग होने के बाद आप जितने भी कंपनी के साथ काम किये होंगे सभी का MEMBER ID आजायेगा ! आप मेम्बर आईडी पर क्लिक कर के आप देख सकते है की आपने किस कंपनी में कितना PF है और कितना आपने निकला है ! 
MEMBER PASBOOK

PF TRANSFER KAISE KARE 

  • सबसे पहले हम गूगल ओपन करेगे टाइप करे गे epfo या अपने ब्राउज़र में टाइप करे https://www.epfindia.gov.in
  • अब हम OUR SERVICES पर जायेगे FOR EMPLOYEES पर क्लिक करेगे 
  • अब हम निचे स्क्रॉल कर के जायेगे SERVICES में Member UAN/Online Service (OCS/OTCP) पर क्लिक करेगे 
  • अब आप अपना UAN NO, पासवर्ड, और कैप्चा लिखना है लोगिंग हो जाना है यदि आपको अपना पासवर्ड नहीं पता है तो आप Forgot Password पर क्लिक कर के अपना पासवर्ड बना ले ! 
  • अब हमें अपना PF ट्रान्सफर करने के लिए Online Services पर जाये और Claim(From-31,19&10C) पर क्लिक करना है 
  • अब आपको अपने बैंक अकाउंट के लास्ट चार नंबर को लिख कर वेरीफाई करना है और proceed online claim पर क्लिक करना है 
  • अब आपको I Want to apply for में Online Pf Withdrawal(form-19) को सेलेक्ट करना है 
  • अब आपको अपना घर का पता डालना है जो आधार कार्ड में है या आप जहा रहते है 
  • I am applying for this claim using my AADHAAR credentials.. को टिक करना है और Get AADHAAR OTP पर क्लिक करना है 
  • अब आपके मोबाइल नंबर पर एक मेसेज आएगा जीमे ओटिपी होगा उस ओटिपी को लिख कर Validate OTP and Submit claim From पर क्लिक करना है 
  • अब आपका ऑनलाइन PF ट्रान्सफर फॉर्म फिल हो गया है आपके सामने एक पीडीऍफ़ फॉर्म आया होगा आप उसे प्रिंट कर सकते है ! 
  • आपका PF फॉर्म भरने के बाद एक महीने में पैसे आपके अकाउंट में आ जाता है 
  •  कभी कभी किसी कारण से PF फॉर्म रिजेक्ट भी हो जाता है ! 
  • आप Claim From को ट्रैक करने के लिए Online Services पर जाये Track Claim Status पर क्लिक कर के आप देख सकते है 
PF TRANSFER

आपको यदि हमारा पोस्ट आच्छा लगा तो इस पोस्ट को कमेंट करे और अपने जरुरत मंद दोस्ते के साथ शेयर करे ! how to pf transfer in bank account

Share:

wordpress kya hai | वर्डप्रेस क्या है। | wordpress Introduction

आपने वर्डप्रेस के बारे में बहुत सुना होगा जब भी आप किसी को वेबसाइट डिज़ाइन या वेबसाइट बनवाने के बारे में बात करते है तो आपको वर्डप्रेस का नाम सुनने को मिला होगा। परआपको पता नहीं है की आखिर वर्ड प्रेस क्या है आज में आप को इस पोस्ट के माध्यम से आप को कम्प्लीट जानकारी वर्ड प्रेस के बारे में बताने जा रहा हूँ की वर्डप्रेस क्या है। wordpress पर वेबसाइट कैसे बनाये , सम्पूर्ण जानकारी आपको इस लेसन में सीखते है।

wordpress Introduction in hindi

wordpress kya hai | वर्डप्रेस क्या है।
वर्डप्रेस एक ओपन सोर्स सॉफ़्टवेयर है जिसे आप सुंदर वेबसाइट, ब्लॉग या ऐप बनाने के लिए उपयोग कर सकते हैं।आप वर्डप्रेस के द्वारा एक Responsive और Dynamic वेबसाइट बनाना सकते है। Responsive वेबसाइट वह होता है जिको हम मोबाइल ,कंप्यूटर ,लैपटॉप , टेबलेट , इत्यादि जिस भी Device में ओपन करे वह वेबसाइट का उसी Device के साइज में ओपन हो। 

वर्डप्रेस को पूरा दुनिया में 60 मिलियन से भी अधिक लोग वर्डप्रेस का यूज़ करते है आप जितने भी इंटरनेट पर वेबसाइट देखते है उसमे 34% वेबसाइट वर्डप्रेस पर बना हुआ है। 

वर्डप्रेस में आपको वेबसाइट बनाना बहुत आसान है आप बिना कोडिंग के वर्डप्रेस में एक सुन्दर वेबसाइट बनाना सकते है आपको पेज बनाना हो या ब्लॉग लिखना हो आप केवल ड्रैग और ड्राप कर के अपना वेबसाइट बहुत आसानी से बना सकते है। सबसे बढ़िया वर्डप्रेस के यह बात की आपको हजारो थीम मिलजाएँगे जिसे आप अपने वेबसाइट का लुक बदल सकते है यहाँ आपको फ्री हजारो थीम मिलजाएँगे और कुछ प्रीमियम थीम भी आपको मिल जायेगा। 

अगर आपको Registation पेज बनाना हो या अपने वेबसाइट पर स्लाइडर लगाना हो या कोई फॉर्म बनाना हो तो आप बहुत आसानी से वर्डप्रेस में कर सकते है आपको कुछ भी करना है आप बस एक plaging को इनस्टॉल कर के करते है  यदि आपको अपने ब्लॉग का SEO  करना हो तो SEO Plaging इनस्टॉल कर के अपने वेबसाइट का बहुत आसानी से search engine optimization कर सकते है। वर्डप्रेस में  हजारो प्लगिंग मिल जाये गे।  

एक बार जब वर्डप्रेस में वेबसाइट बनाना सीख  तब आप दूसरे के लिए वेबसाइट  और पैसा कमा सकते है आप घर से इस काम को सुरु कर सकते है।  अगर आपका इस काम में पैसन हो तो आप वेब डिज़ाइन में अपना करियर  बनाना   पैसा कामा।   चलिए wordpress  वेबसाइट बनाना सिख लेते है। 
wordpress me apna website kaese banaye | वर्डप्रेस में वेबसाइट बनाना सीखे।
सबसे पहले आपको वेबसाइट बनाने के लिए Domain Name खरदना होगा Domain Name हमारे का नाम होता है जिसे आप Godaddy या कही और से खरीद सकते है जिसका साल का 500 रुपया से 800 रुपया होता है। जैसे - Raicomputerhindi.com एक डोमेन नाम है।

अब हमें अपने वेबसाइट के कंटेंट ,इमेज ,वीडियो इत्यादि को स्टोर करने के लिए एक जगह की जरुरत होगी जिसे हम होस्टिंग कहते है।  आप Hosting ब्लू होस्ट  , Godaddy , होस्टगेटर  कही से भी खरीद सकते है  ?Hosting के लिए हमें कम  कम  100 रुपया का चार्ज देना होता है आप अपने जरुरत  अनुसार Hosting खरीद सकते है " जिस तरह आप जब अकेले होते  तब एक रूम में आपका काम चल जाता है  पर जब आपकी फैमिली हो जाती है तब आप को  दो  उससे  रूम  जरुरत पड़ती है "  बिल्कुल इसी तरह  शुरू  में शेयर होस्टिंग छोटा प्लान ले सकते है बाद में आप इसे बढ़ा सकते है। 

अब हमने होस्टिंग भी खरीद लिया और Domain Name खरीद लिया अब हमें अपने होस्टिंग के Cpanel में जाकर अपने सर्वर पर वर्डप्रेस इनस्टॉल करेंगे। Cpanel वह एरिया होता है जहा हम अपने वेबसाइट का पूरा डाटा , फाइल , इमेज , वीडियो इत्यादि इन सभी मैनेज करते है। जिस आपके कंप्यूटर के ड्राइव को मैनेज करने के लिए My Computer में जाकर मैनेज हैं उसी तरह Cpanel वेबसाइट के डाटा मैनेज करने के लिए होता है।

वर्डप्रेस को सर्वर पर इनस्टॉल कैसे करे। How to install and setup Wordpress?

सबसे पहले cpanel में जाकर apps installer में वर्डप्रेस पर क्लिक कर के डायरेक्ट वर्डप्रेस को इनस्टॉल कर सकते है दूसरा तरीका है वर्डप्रेस को menawali इनस्टॉल कर सकते है तो चलिए हम menawali वर्डप्रेस को इनस्टॉल करना सीखते है।
  • wordpress.org के वेबसाइट पर जाकर हमें वर्डप्रेस डाउनलोड करना है 
  • अब Cpanel को ओपन करे। Cpanel को डायरेक्ट ओपन करने के लिए Domain Name के बाद Cpanel लिखे जैसे - https://raicomputerhindi.com /cpanel 
  • अपना Cpanel यूजर आईडी और पासवर्ड से लॉगिंग कर ले। अगर आपको Cpanel का यूजर आईडी और पासवर्ड नहीं पता तो आप अपने जहाँ से Hosting ख़रीदा है वहाँ जाकर यूजर ऑप्शन में Cpanel का यूजर आईडी और पासवर्ड बनाना ले। 
how to longing cpanel

अब Cpanel के Files में फाइल मैनेजर पर क्लिक करे इसके बाद आपके सामने एक नया पेज ओपन होगा उसमे आपको Public_html पर क्लिक करना है।

How to install and setup Wordpress

अब आपको अपलोड पर क्लिक कर के वर्डप्रेस के फाइल को अपलोड करना है फिर उस फोल्डर को EXTRACT कर दे Public_html फोल्डर में। अब आप उस फोल्डर को डिलीट कर दे। जिस फोल्डर को हमने अभी EXTRACT किया है। अब हमने वर्डप्रेस को सर्वर पर अपलोड कर दिया।

How to install and setup Wordpress


How to install and setup Wordpress

अब अपने ब्राउज़र का नया टैब ओपन करना है उसमे अपना Domain नाम लिखना है उसके बाद wp-admin लिखना है। जैसे - https://raicomputerhindi.com /wp-admin 
अब आपको वर्डप्रेस डेटाबेस यूजर नाम पासवर्ड लिखना है गेट स्टार्ड पर क्लिक कर देना है



How to install and setup Wordpress

How to install and setup Wordpress

How to install and setup Wordpress

इस तरह से अब हमारा वर्डप्रेस पूरी तरह से इनस्टॉल हो चूका है अब हम अपना वेबसाइट बनाना शुरू करते है अब हमें जब भी अपने वेबसाइट को में कुछ चेंज करना हो तब हमें अपने वेबसाइट के Domain name के बाद wp-admin या आपने वर्ड प्रेस को ओपन करने का Admin नाम रखा हो उसे लिखकर ही लॉगिंग करेंगे। by defult लॉगिंग करने के लिए wp-admin ही होता है। जैसे - https://raicomputerhindi.com /wp-admin

वर्डप्रेस लॉगिंग करने के बाद हमारे सामने वर्डप्रेस Dashbord ओपन होता है जहा हम अपने वेबसाइट का पूरा backend proccess को मैनेज करते है।  जिसे हम content management system कहते है यही से हम पूरा वेबसाइट का कंटेंट , इमेज फोटो वीडियो को मैनेज करते है।

wordpress kya hai

वर्डप्रेस के dashbord के बारे में जान लेते है किस Function का यूज़ किस लिए किया जाता है।

Home : होम टैब के अंदर सभी पोस्ट ,पेज , कमेंट , मेनू जितने भी हमारे वेबसाइट के फंक्शन होते है हमें सभी फंक्शन होम टैब पर ही दिख जाता है।

Posts : पोस्ट टैब के अंदर सभी पोस्ट होते है हमने अपने ब्लॉग या वेबसाइट में जितने भी पोस्ट लिखना हो या पुराने पोस्ट को एडिट करना हो ये सभी काम हम पोस्ट टैब पर क्लीक कर के कर सकते है ।

Media : मीडिया टैब के अंदर हमारे वेबसाइट केजितने भी मीडिया फाइल होते है जैसे - इमेज , ऑडियो , वीडियो यह सभी मीडिया टैब के अंदर होते है। 

Pages : पेज टैब के अंदर हमारे वेबसाइट केजितने भी पेज होते है वह सब पेज टैब के अंदर होते है। जैसे - अबाउट पेज , कांटेक्ट पेज , होम पेज , और भी जितने हमें नया पेज बनाना हो या पुराने पेज में कुछ एडिट करना हो या डिलीट करना हो आप पेज टैब के अंदर जा के कर सकते है। 

Comments : कमैंट्स टैब के अंदर हमारे वेबसाइट के जितने भी यूजर है जो हमारे ब्लॉग के पोस्ट पर अपना विचार रखते है कमैंट्स करते है। वह कमैंट्स को हम यही से सभी कमेंट को पढ़ सकते है डिलीट करसकते या इत्यादि। 

Appearance : अपीयरेंस टैब के हमारे वेबसाइट के जो थीम होते है उसका पूरा कण्ट्रोल अपीयरेंस टैब के अंदर होता है। आपको अपने वेबसाइट का थीम बदलना हो या आपको अपने Themes को Customize करना हो या आपको अपना वेबसाइट का मेनू बदलना हो या आपको अपने थीम्स का कलर बदलना हो या आपके वेबसाइट के थीम में कुछ भी बदलाव करना हो यह सभी काम आप अपीयरेंस टैब के अंदर करने को मिलेगा। अपने Themes में कुछ भी बदलाव या एडिट करने के लिए आपको अपीयरेंस टैब के अंदर जाना होगा। 

Plugins :प्लगिन्स टैब का यूज़ तब करते है जब हमें अपने वेबसाइट के अंदर कोई प्लगिंग इंस्टाल करना हो या किसी प्लगिंग को डिलीट करना हो या एक्टिवटे करना हो या एडिट करना हो सब कुछ प्लगिन्स से जुडी कोई भी काम हमें प्लगिन्स टैब के अंदर मिलेगा। प्लगिन्स एक वर्डप्रेस का महत्वपूर्ण भाग है आपको अगर स्लाइडर लगाना हो या लॉगिंग फॉर्म बनाना हो या कुछ भी करना हो बिलकुल कुछ मिंटो में प्लगिंग इनस्टॉल करके उस काम को कर सकते है। जैसे अगर हमें खुद coding करके कोई फॉर्म बनाना हो या स्लाइडर एनिमेट करना हो यह करने कितने घंटे लग जायेगे पर उससे भी यह बड़ी दिकत है की सभी लोग को पूरा coding नहीं पता होता है इस लिए वह नहीं कर पते है। पर अगर आप वर्डप्रेस को अच्छा से प्लगिंगी सीख लिया तो एक अच्छा डायनामिक वेबसाइट बना सकते है। 

Users : अगर आप अपने वेबसाइट या ब्लॉग पर किसी और को एडिट करने या किसी को कंटेंट लिखने के लिए यूजर बनाना चाहते है तो आप यूजर टैब के अंदर जा कर अपने वेबसाइट या ब्लॉग के लिए यूजर बना सकते है या जितने भी लोग ब्लॉग पर काम करते है उन सभी को यूजर में जा कर देख सकते है की कितने लोग इस वेबसाइट पर काम कर रहे है। जितने भी बड़े वेबसाइट होते है वह अलग अलग टॉपिक पर कंटेंट राइटर को यूजर बनाते है। आप यदि किसी को अपने ब्लॉग का कंटेंट लिखवाना चाहते है तो उसे यूजर बना सकते है और उसे रोल दे सकते है की वह आपके ब्लॉग पर केवल कंटेंट लिख सकता है पब्लिश नहीं कर सकता है या एडिट कर सकता है कुछ भी आप अपने यूजर को रोल दे सकते है। 

Tools:  टूल्स के अंदर जितने भी हम अपने वेबसाइट पर टूल का उसे करते है वह सभी आपको टूल्स टैब में मिल जायेगा। 

Setting: सेटिंग में आप अपने वेबसाइट के अंदर को भी कुछ सेटिंग में बदलना कर सकते है यदि आपको अपने ब्लॉग का यूआरएल में डेट रखना है या केवल कीवर्ड। इसी तरह से आपको कुछ भी सेटिंग करनी वेबसाइट में वह सेटिंग में जा कर कर सकते है।
Share:

YouTube क्या है? ~ What is Youtube

YouTube का इतिहास
YouTube एक साझा विडियो शेयरिंग वेबसाइट है यहाँ पर सब्सक्राइबर विडियो को रेटिंग कर सकता है YouTube का इतिहास यह है की पेपल के पूर्व तिन कर्मचारियों ने YouTube को 2005 में बनया था जिनका नाम स्टीव चेन, चाड हले, जावेद करीम है एक दिन स्टीव चेन, चाड हले अपने पार्टी का विडियो शेयरिंग करने में काफी दिकत आ रही थी तभी तीनो ने विडियो शेयरिंग वेबसाइट बनाना का आईडिया आया की हमारे तरह कितने लोग है जो अपना विडियो शेयरिंग करने में दिकत होती होगी और इसतरह से YouTube की शुरुआत हुई थी बाद में YouTube को अक्टूबर 2006 में गूगल ने 1.65 बिलियन में खरीद लिया तब से अब तक YouTube ने और पोपुलर हो गया हर दिन करीब YouTube पर बिलियन विडियो व्यूज आते है YouTube विज्ञापन के द्वारा हर महीने में बिलियन डॉलर कमाता है HISTORY OF YOUTUBE IN HINDI  

youtube history in hindi

YouTube क्या है 
YouTube एक पोपुलर विडियो शेयरिंग वेबसाइट एंड मोबाइल APP है जिसे पेपल के पूर्व तिन कर्मचारियों ने YouTube को 2005 में बनया था जिसे अक्टूबर 2006 में गूगल ने 1.65 बिलियन में खरीद लिया 
YouTube पर विडियो आता कहा से है तो हम आपको बता रहे है की यहाँ पर YouTube या गूगल विडियो अपलोड नहीं करता है YouTube पर आपके हमारे जैसे ही आम लोग भिनभिन टॉपिक पर विडियो अपलोड करता है जैसे कोई म्यूजिक कंपनी अपने म्यूजिक को YouTube पर अपलोड कर लोगो के बिच शेयर करता है आप यहाँ पर किसी भी प्रकार के टॉपिक पर विडियो अपलोड कर सकते है 

YouTube कॉपीराइट नियम 
  • यदि आप YouTube पर विडियो अपलोड कर के अपने विडियो पर विज्ञापन लगा कर उससे आप पैसा कमाना चाहते है तो आपको YouTube के नियम को पालन करना पड़ेगा 
  • आपका खुद का शूट या बनया गया विडियो होना चाहिए 
  • आपके विडियो में किसी भी प्रकार के दुसरे के म्यूजिक को नहीं यूज़ कर सकते है विडियो में अपनी खुद के आवाज को ही रिकॉर्ड करे बैकग्राउंड में किसी भी गाने का कॉपीराइट म्यूजिक न यूज़ करे | YouTube के वेबसाइट से फ्री म्यूजिक को डाउनलोड कर के यूज़ कर सकते है 
  • आप हमेसा ध्यान रखे की कभी फाई दुसरे के कंटेंट को न यूज़ करे नहीं तो YouTube आपके विडियो पर कॉपीराइट स्ट्राइक लगा देगा ! जब आप YouTube पर विडियो अपलोड करते है तो उसी समय जब विडियो प्रोसेसिंग करते समय पता लगता है की यह विडियो किसी और का तो नहीं है इसमें जो फोटो ऑडियो विडियो है वह कंटेंट किसी दुसरे का तो नहीं है यदि कॉपी राईट होगा तो विडियो मनेजर के अन्दर आपके उस विडियो पर कॉपी राईट लिखा लिखा आ जयेगा नहीं होगा तो नहीं आएगा 
YouTube पर चैनल कैसे बनाये 
  • यह एक गूगल का प्रोडक्ट है तो आपके पास एक जीमेल का ईमेल अकाउंट होना चाहिए यदि है तो आप लोगिंग हो जाये 
creat a youtube channel

  • लोगिंग होने के बाद आप ने जो भी गूगल अकाउंट में फोटो लगया होगा उस पर क्लिक करे और क्रिएटर स्टूडियो या पास सेटिंग ऑप्शन पर क्लिक करे 
  • अब See all my channels or create a new channel पर क्लिक करे 
  • अब Create a New चैनल पर क्लिक करे 
  • ब्रांड अकाउंट नाम में अपने चैनल का नाम टाइप करे और Create पर क्लिक कर दे आपका चैनल बन गया 
  • अपने चैनल का लोगो और बैनर फोटोशॉप या कही से बना कर अपलोड कर दे 
  • विडियो मनेजर पर क्लिक करे 
  • अब आप चैनल पर क्लिक करे स्टेट्स एंड Features में अपने मोबाइल नंबर से चैनल वेरीफाई करा ले 
  • अब आप चैनल आप्शन में Advanced पर क्लिक कर और अपने चैनल का कीवर्ड और कंट्री चूजकर सेव कर दे 
  • अपने चैनल के अबाउट में अपने चैनल के बारे पूरा डिटेल्स अपना ईमेल , फेसबुक पेज यूआरएल , वेबसाइट यूआरएल इनपुट कर ले ! 


YouTube Upload Video
अब विडियो अपलोड करने के लिए होम पर जाए ! सबसे उपर आपको सर्च बार के बगल में विडियो का आइकॉन दिख रहा होगा उस पर क्लिक कर के अपलोड विडियो पर क्लिक करे 
अब अपने माउस को अपलोड आइकॉन पर ले जाकर अपने कंप्यूटर में जहा विडियो रखा है उसे ओपन करले 
अब आप अपने विडियो का एक अच सा टाइटल लिख ले अपने विडियो का डिस्क्रिप्शन और जादा से ज्यदा अपने विडियो के बारे में लिखे की आपका विडियो किस बारे में है अपने विडियो का टैग डाले यानि कीवर्ड की आपका विडियो किस बारे में है सोशल डिस्क्रिप्शन में विडियो का छोटा सा डिस्क्रिप्शन डाल दे और प्लेलिस्ट बना ले एक अच्छा सा विडियो का कस्टम थंबमेल बना ले और अपलोड कर ले कस्टम थंबमेल जजों आपके विडियो के उपर इमेज दीखता है वह है जब विडियो अपलोड हो जाये तो पब्लिश कर दे 

YouTube Monetization ( विज्ञापन नियम ) 
अपने Youtube चैनल को Monetization करने के लिए आपके चैनल पर बारह महीने के अन्दर कभी भी 1000 सब्सक्राइबर और 4000 घंटा वाच टाइम होना चाहिए तभी आपका आपके चैनल पर Monetization आप्शन को अनुमति दी जाये गी ! यह नियम मई 2018 से लागु किया गया है

technical raiji


youtube earn money in hindi

Share:

HTML Attributes क्या है | What is HTML Attributes in Hindi

HTML भाषा को हमें सिखने का यही उदेश्य है की हम एक बढ़िया , सुन्दर वेबसाइट बना पाए। HTML TAGS एक Web Page को Simple Structure देते है। इसीलिये उसके अतिरिक्त सुधार के लिए हमे इन Element के Attributes की Knowledge होना बहुत जरूरी है। तो आज हम आपको यही बताने वाला हूँ की HTML Kya Hai और HTML Attributes का उपयोग कैसे किया जाता है।
HTML Attributes

HTML Attributes क्या है | What is HTML Attributes?
HTML Attribute एक HTML Element को अतिरिक्त जानकारी प्रदान करते हैं। Html Attribute को Name और Value से Define किये जाते है। Html Attribute की Value को हमेसा Double quote ( = ” “ ) के भीतर लिखा जाता है। HTML Attributes का उपयोग HTML Tags की विशेषताओं को Define करने के लिये किया जाता है। 
जब हम किसी HTML TAG को यूज़ करते है तब हमें उस टैग में अतिरिक्त सुचना भी लिखना पड़ता है जैसे हम वेब पेज में इमेज को insert करने के लिए <इमेज > टैग का इस्तेमाल करते है पर केवल <इमेज > टैग के द्वारा किसी इमेज को वेब पेज में insert नहीं किया जा सकता है। हमें इमेज टैग के साथ HTML Attribute ( Src =" इमेज यूआरएल लिंक " ) लिखना होगा तभी हम इमेज को वेब पेज में इन्सर्ट कर सकते है।

HTML Attribute को हमेसा शुरुआती टैग के साथ लिखा जाता है।
HTML Attribute एक HTML Element को अतिरिक्त जानकारी प्रदान करते हैं
सभी HTML Tag में HTML Attribute हो सकता हैं
Html Attribute को हमेसा Name और Value में लिखा जाता है जैसे Name ="Value "
HTML Tag और  HTML Attribute को हमेसा छोटे शब्दो में ही लिखे। 

मुझे उम्मीद है की आपको समझ में आ गया होगा की HTML Attribute क्या है चलिए अब एक एक कर के सभी HTML Attribute के बारे में जानते है।

href Attribute : इस Attribute का यूज़ Html के html AttributeTag के साथ किसी फाइल, किसी टेक्स्ट, किसी इमेज के साथ लिंक करने के लिए href Attribute का यूज़ किया जाता है।
Html href Attribute

src Attribute : इस Attribute का यूज़ Html के   html Attribute Tag के साथ किसी इमेज के source को डिफाइन करने के लिए src Attribute का यूज़ किया जाता है। यानि इमेज किस फोल्डर या किस स्थान पर है यह बताने के लिए src Attribute का यूज़ किया जाता है।
Html src Attribute

alt Attribute : इस Attribute का यूज़ Html के html AttributeTag के साथ किसी इमेज के Value बताने है की आपका इमेज किस बारे में है इमेज का कीवर्ड क्या है जिस से इमेज को एक value मिलती है की इमेज किस बारे में है।
Html alt Attribute

Width and Height Attribute : इस Attribute का यूज़ किसी इमेज या किसी फाइल के height और width को डिफाइन करने के लिए किया जाता है। 
Html Width and Height Attribute

lang Attribute : इस Attribute का यूज़ किसी भी वेब पेज के भाषा को बताने के लिए किया जाता है की आपका वेबसाइट या ब्लॉग किस भाषा में है।
Html lang Attribute

style Attribute : इस Attribute का यूज़ किसी inline Css स्टाइल करने के लिए किया जाता है।
Style Attribute

title Attribute : इस Attribute का यूज़ किसी भी टेक्स्ट ,इमेज या किसी भी फाइल के ऊपर माउस ले जाने पर उस फाइल या टेक्स्ट का नाम बताने के लिए title Attribute का यूज़ किया जाता है।
title Attribute
Share:

लेटेस्ट अपडेट

विडियो टॉपिक

वेबसाइट को कितने लोगो ने पढ़ा